पपीता

पपीता फरवरी-मार्च एवं मई से अक्टूबर तक के महीने में अधिक मात्रा में मिलने वाला फल है।

पपीता खाने के फायदे

 

पके हुए पपीते से मिलने वाले लाभ इस प्रकार हैं –

पका हुआ पपीता स्वाद में मधुर, पित्त दोष नाशक, पचने में भारी, गुण में गर्म, पेट साफ करने वाला, हृदय के लिए हितकारी, आंतों के कीड़ों को मिटाने में सहायक होता है। पका हुआ पपीता स्वाद में मधुर होता है। पका हुआ पपीता पित्त के दोषों का नाश करता है। पका हुआ पपीता पचने में भारी, गुण में गर्म होता है।

पका हुआ पपीता हृदय के लिए हितकारी होता है। पका हुआ पपीता आंतो के कीड़ों को मिटाने में सहायक होता है। पका हुआ पपीता वायु के दोषों का नाश करता है। पके हुए पपीते में विटामिन सी की भरपूर मात्रा होती है।

पके पपीते के सेवन से सूखा रोग ठीक होता है। खाना खाने के 1 घंटे बाद पके पपीते का सेवन करने से कब्ज ठीक होता है।पके पपीते के सेवन से अम्लपित्त आदि रोगों में लाभ होता है। पपीते के सेवन के बाद अजवाइन को चबाकर खाने से फोड़े-फुंसी, पसीने की दुर्गंध एवं पेट के कीड़े आदि का नाश होता है।

पपीते का औषधीय प्रयोग

दुबले व कमजोर बच्चों के लिए

दुबले पतले बच्चों को रोज उचित मात्रा में पका हुआ पपीता खिलाने से उनका शरीर मजबूत एवं तंदुरुस्त बनता है।

मंदाग्नि एवं अजीर्ण

पपीते की फांक पर नींबू, नमक और काली मिर्च डालकर रोज सुबह खाली पेट सेवन करने से मंदाग्नि, अरुचि तथा अजीर्ण में काफी लाभ मिलता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.