निम्बू का उपयोग – Nimbu ke fayde

गर्मी में नींबू का उपयोग किन किन रूपों में किया जाता है?

गर्मी के मौसम में नींबू का शरबत बनाकर पिया जाता है जैसे शिकंजी या नींबू पानी। नींबू का रस स्वादिष्ट व पाचक होने के कारण स्वास्थ्य के लिए अत्यंत उपयोगी होता है।
 निम्बू
 

नींबू के क्या क्या गुण होते हैं?

गुणों की दृष्टि से नींबू बहुत अधिक लाभकारी होता है खून की अम्लता को दूर करने का विशिष्ट गुण नींबू रखता है। नींबू की खटाई में ठंडक उत्पन्न करने का विशिष्ट गुण होता है जो हमें गर्मी से बचाता है। नींबू में विटामिन सी अधिक मात्रा में पाया जाता है अतः यह खून में पित्त की मात्रा के बढ़ने को कम करता है व स्कर्वी रोग आदि मे अत्यंत लाभदायक होता है।

नींबू का सेवन किन किन परिस्थितियों में नहीं किया जाता है?

नींबू का सेवन जोड़ों के दर्द में नहीं किया जाता है। नींबू का सेवन शरीर में कहीं भी सूजन होने पर नहीं किया जाता है। नींबू का सेवन यदि किसी व्यक्ति को बुखार के साथ खासी जुखाम या फेफड़ों में बलगम जमा हो तो भी नहीं किया जाता है। नींबू का सेवन सफेद दाग के रोगी को भी नहीं करना चाहिए।

नींबू का औषधि के रूप में प्रयोग किन परिस्थितियों में किया जा सकता है?

मुंह सूखना

बुखार की अवस्था में गर्मी के कारण मुंह के भीतर लार उत्पन्न करने वाली ग्रंथियां जब लार उत्पन्न करना बंद कर देती हैं और मुंह सूखने लगता है तब नींबू का रस पीने से ये ग्रंथियां सक्रिय हो जाती है।

अपच अरुचि

नींबू के रस में मिश्री और काली मिर्च का एक चुटकी चूर्ण डालकर शर्बत बनाकर पीने से जठराग्नि तीव्र होती है। जिससे भोजन के प्रति रुचि उत्पन्न होती है व आहार का पाचन होता है।

पेट दर्द मंदाग्नि व भूख ना लगना

एक गिलास पानी में दो चम्मच नींबू का रस एक चम्मच अदरक का रस व मिश्री डालकर पीने से हर प्रकार का पेट दर्द दूर हो जाता है। जठराग्नि तीव्र होती है व भूख खुलकर लगती है।

मोटापा और कब्ज

एक गिलास गुनगुने पानी में एक साबुत नींबू का रस एवं दो तीन चम्मच शहद डालकर पीने से शरीर की अनावश्यक चर्बी कम होती है और कब्ज भी खत्म होता है।

त्वचा रोग

नींबू के रस में नारियल का तेल मिलाकर शरीर पर उसकी मालिश करने से त्वचा की शुष्कता खुजली आदि त्वचा के रोगों में लाभ होता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.