जौ के फायदे – Jau ka sattu

जौ क्या होता है?

जौ का उपयोग काफी लंबे समय से होता चला आ रहा है। जौ एक प्रकार का अनाज है। यह गेहूं की अपेक्षा हल्का अनाज होता है।

जौ के फायदे
 

जौ का सत्तू कैसे बनाया जाता है?

जौ को भूनकर पीसकर उसके आटे में थोड़ा सैंदा नमक और पानी मिलाकर सत्तू बनाया जाता है और पीया जाता है। नमक की जगह गुड़ का भी उपयोग किया जा सकता है। सत्तू में घी और चीनी मिलाकर भी खाया जाता है।

जौ का उपयोग कब अधिक किया जाता है?

गर्मी की ऋतु में भूख प्यास शांत करने के लिए जौ के सत्तू का उपयोग अधिक होता है।

गर्मी में जौ के सत्तू का क्या महत्व होता है?

गर्मी की ऋतु में सूर्य की किरणें अत्यंत उष्ण (गर्म) होती हैं। गर्मी की ऋतु में प्राणियों के शरीर का जलीयांश (जल की मात्रा) कम हो जाता है जिससे प्यास ज्यादा लगती है इसलिए इस ऋतु में जौ का सत्तू पीना बहुत हितकारी है। गर्मी की ऋतू में जौ का सत्तू हमारे शरीर को ठंडक प्रदान करता है।

जौ के सत्तू के क्या गुण होते हैं?

जौ का सत्तू ठंडा अग्नि प्रदीपक (गर्मी शांत करने वाला) होता है। जौ का सत्तू कब्ज दूर करता है। जौ का सत्तू कफ एवं पित्त को दूर करता है। जौ का सत्तू रुक्षता और मल को दूर (पेट साफ़) करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.