पत्थर बेल के फायदे – Bel pathar ke fayde

वह बेल जो रोगों का नाश करें। पत्थर बेल के नियमित सेवन से शरीर सुडौल बनता है। पत्थर बेल की जड़ उसकी शाखाएं पत्ते, छाल और फल ये सभी औषधियां हैं। पत्थर बेल में हृदय को ताकत और दिमाग को ताजगी देने के साथ-साथ सात्विकता प्रदान करने का भी श्रेष्ठ गुण है।
पत्थर बेल के फायदे
यह स्निग्ध (मीठा) मुलायम और उष्ण होता है। कच्चे और पके पत्थर बेल के गुण तथा उससे होने वाले लाभ अलग-अलग प्रकार के होते हैं। कच्चे पत्थर बेल का सेवन करने से भूख खुलकर लगती है और पाचन शक्ति भी मजबूत होती है। कच्ची पत्थर बेल के सेवन से पेट के कीड़ों का नाश होता है।

पके हुए पत्थर बेल के गुण व लाभ

पका हुआ पत्थर बेल खाने में मीठा, स्वाद में कसैला, पचने में भारी तथा मीठा खाद्य पदार्थ होता है। पके पत्थर बेल को खाने से पेट ठीक होता है अर्थात पेट साफ हो जाता है।

पत्थर बेल के औषधीय लाभ

पेट में मरोड़ होने पर पके हुए पत्थर बेल का सेवन आंतो को ताकत देता है। एक पके पत्थर बेल के गूदे से बीज निकालकर सुबह-शाम सेवन करने से पेट में मरोड़ नहीं होती।

पेट व छाती की जलन

200 मिलीलीटर पानी में 25 ग्राम एक पके बेल पत्थर का गूदा लेकर उसमें 25 ग्राम मिश्री मिलाकर उसका शर्बत बनाकर पीने से छाती, पेट, आँख की जलन एवं पैर के तलवों की गर्मी में राहत मिलती है।

पाचन के लिए

पत्थर बेल में पाचक तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं। पाचन के लिए पके हुए पत्थर बेल का गूदा निकालकर उसे खूब सुखा लीजिए फिर इसको पीसकर चूर्ण बनाएं। आवश्यकता पड़ने पर इस चूर्ण को 2 ग्राम से 5 ग्राम तक की मात्रा में पानी के साथ सेवन करने से पाचन ठीक होता है।

Leave a Comment